पीएम मोदी ने 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाकर देशवासियों से 7 बातों में मांगा साथ, जानिए क्या-क्या करने को कहा?

पीएम मोदी ने 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाकर देशवासियों से 7 बातों में मांगा साथ, जानिए क्या-क्या करने को कहा?

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के मद्देनजर देश में  3 मई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा, इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन आर्थिक दृष्टि से देखें तो अभी ये मंहगा जरूर लगता है लेकिन भारतवासियों की जिंदगी के आगे, इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती।

पीएम मोदी ने कहा, मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है। स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए। इसी बीच पीएम मोदी ने देशवासियों से सात बातों में उनका साथ मांगा है। पीएम ने कहा है कि इन सात बातों का ध्यान रखकर आपको उसका पालन करना है। आइए जानें वो साते बातें क्या-क्या हैं?

पहली बात-
पीएम मोदी ने कहा- अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें, विशेषकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो, उनकी हमें Extra Care करनी है, उन्हें कोरोना से बहुत बचाकर रखना है। 

दूसरी बात-
पीएम मोदी ने कहा-  लॉकडाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें ,घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। 

तीसरी बात-
पीएम मोदी ने कहा-  अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें, गर्म पानी, काढ़ा, इनका निरंतर सेवन करें। 

चौथी बात-
पीएम मोदी ने कहा- कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल App जरूर डाउनलोड करें। दूसरों को भी इस App को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें। 

पांचवी बात-
पीएम मोदी ने कहा-जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें, उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें। 

छठी बात-
पीएम मोदी ने कहा- आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करे लोगों के प्रति संवेदना रखें, किसी को नौकरी से न निकालें। 

सातवीं बात-
पीएम मोदी ने कहा- देश के कोरोना योद्धाओं, हमारे डॉक्टर- नर्सेस, सफाई कर्मी-पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें।