भूखे पेट तंबू में गुजारी रातें, अब सचिन के बल्ले से कभी भी कर सकता है डेब्यू

भूखे पेट तंबू में गुजारी रातें, अब सचिन के बल्ले से कभी भी कर सकता है डेब्यू

नई दिल्ली: किसी ने सच ही कहा है, अगर हाैसले हों बुलंद कुछ कर गुजरने की तो फिर बुरा वक्त भी आपसे दूर होने पर मजबूर हो जाता है। कड़ा परिश्रम का रंग जब चढ़ता है तो वो फिर आसानी से उतरता नहीं। फिलहाल, साउथ अफ्रीका में चल रहे अंडर-19 विश्व कप में एक ऐसे ही खिलाड़ी का सितारा चमकता हुआ दिखा जो कभी भूखे पेट तंबू में रातें गुजारता था। लेकिन आज उसकी कामयाबी पर पूरा देश गर्व कर रहा है।

हम बात कर रहे हैं सलामी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल की। वही खिलाड़ी, जिसने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में नाबाद 105 रनों की पारी खेल भारत को सातवीं बार फाइनल में पहुंचाया। साथ ही पांचवीं बार खिताब हासिल करने की उम्मीद जताई।

सचिन के बल्ले से कर सकते हैं डेब्यू:

यशस्वी भारतीय क्रिकेट के भविष्य नजर आ रहे हैं। वह रोहित शर्मा की कमी पूरी कर सकते हैं, क्योंकि उनका खेलने का अंदाज भी विस्फोटक भरा है। यशस्वी जब डेब्यू करेंगे तो वह पूर्व महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बल्ले से खेलकर डेब्यू कर सकते हैं। दरअसल, इसकी मांग भी सचिन ने ही की। सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर और यशस्वी दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं। इन दोनों की दोस्ती बेंगलुरु में स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में हुई थी। उस वक्त अर्जुन और यशस्वी दोनों एक ही कमरे में रहते थे।

एक बार अर्जुन ने यशस्वी की मुलाक़ात अपने पिता से करवाई थी। वे साल 2018 में यशस्वी को अपने घर ले गए। पहली ही मुलाकात में सचिन ने यशस्वी से प्रभावित होकर उन्हें अपना बल्ला गिफ्ट में दे दिया। यही नहीं, सचिन ने यशस्वी से अपने डेब्यू मैच में उसी बल्ले से खेलने की गुजारिश भी की।