फेक ID कार्ड बनाकर कानपुर से इस तरह उज्जैन पहुंचा था विकास दुबे, एनकाउंटर के डर से बन गया था 'पॉल'

फेक ID कार्ड बनाकर कानपुर से इस तरह उज्जैन पहुंचा था विकास दुबे, एनकाउंटर के डर से बन गया था 'पॉल'

उज्जैन: कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्यारा कुख्यात अपराधी विकास दुबे को आज (9 जुलाई) मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। उत्तर प्रदेश का मोस्टवांटेड विकास दुबे आखिर एमपी के उज्जैन कैसे पहुंचा, ये सवाल सबके दिमाग में है। असल में विकास दुबे कुख्यात अपराधी के साथ एक शातिर बदमाश ही निकला। कानपुर शूटआउट के बाद वह एक फेक आईडी बनाकर पुलिस के डर से छिपा हुआ था। विकास दुबे ने जो फर्जी आईडी बनाई थी, उसमें उसका नाम  'पॉल' था। इसी फर्जी आईडी कार्ड के सहारे विकास दुबे राजस्थान के कोटा से सड़क के रास्ते उज्जैन पहुंचा था। NDTV ने दावा किया है कि ये उक्त जानकारी  मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उनको बातचीत में बताई है। 

NDTV ने मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के हवाले  से लिखा है, हमें विकास की गिरफ्तारी के बाद ऐसी जानकारी मिली थी कि वह फर्जी आईडी का इस्तेमाल कर रहा था। विकास दुबे गुरुवार (9 जुलाई) को उज्जैन के महाकाल मंदिर पहुंचा था, यहां पर उसे एक गार्ड ने पहचान लिया था। उसकी पहचान की पुष्टी होने के बाद उज्जैन पुलिस को भी जानकारी दी गई, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।  एनडीटीवी के पत्रकार ने ट्विटर पर उस कार की वीडियो शेयर की है, जिससे विकास उज्जैन आया था।  

अधिकारिक तौर पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने नहीं कही है फर्जी आईडी वाली बता:

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मामले की अधिकारिक जानकारी देते हुए फर्जी आईडी के बारे में कोई बात नहीं कही है। मीडिया के सवालों पर उन्होंने कहा कि वह अभी इस बारे में ज्यादा नहीं बता सकते कि आखिर विकास दुबे उज्जैन कैसे पहुंचा था। उन्होंने कहा कि यह इंटेलिजेंस का मामला है...इसलिए ज्यादा नहीं बोल सकता। एक बार सारी पूछताछ हो जाए तो पूरी जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा, विकास दुबे की गिरफ्तारी मध्य प्रदेश पुलिस की बड़ी कामयाबी है। 

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जानकारी दी है कि विकास दुबे के साथ उसके दो साथी भी गिरफ्तार किए गए हैं। जिनके नाम हैं बिट्टू और सुरेश। उन्होंने कहा, मोस्टवांटेड विकास दुबे के साथ हमने उसके दो साथियों बिट्टू और सुरेश को भी उज्जैन में गिरफ्तार किया है। हमने उत्तर प्रदेश पुलिस को सूचना दे दी है।  हमने पुलिस को अलर्ट कर रखा था, मध्य प्रदेश पुलिस के जांबाज चौकस थे, जैसे ही उन्हें संदेह हुआ, उसे (विकास दुबे) दबोच लिया गया। 

गिरफ्तारी के बाद विकास दुबे की मां ने कहा- बेटे को 'महाकाल' ने बचाया:

विकास दुबे की गिरफ्तारी पर मां सरला देवी ने कहा है कि उसके बेटे को 'महाकाल' ने बचाा है। विकास दुबे की गिरफ्तारी पर मां सरला देवी बोली, वो (विकास दुबे) उज्जैन के महाकाल मंदिर में हर साल सावन में दर्शन के लिए जाता था। सरकार जो उचित समझे वो करे, मेरे कहने से कुछ नहीं होगा। मां ने यह भी बताया कि विकास दुबे का ससुराल मध्य प्रदेश में है। वह वहीं था।

गिरफ्तारी के बाद बोला- मैं हूं कानपुर वाला विकास दुबे:

गिरफ्तारी के बाद विकास दुबे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में आया। जिसमें पुलिस उसको गाड़ी में बिठाने ले जा रही है और उसे दो-तीन पुलिसकर्मियों ने पकड़े हुए हैं। तभी विकास दुबे जोर से चिल्लाता है, 'मैं विकास दुबे हूं.. कानपुर वाला'। तभी एक कॉन्स्टेबल ने विकास को थप्पड़ मारता है।