वाराणसी: धारा-144 और बफरजोन की उड़ी धज्जियां, ...तो लोहता एसओ पर क्यों ना हो मुकदमा?

वाराणसी: धारा-144 और बफरजोन की उड़ी धज्जियां, ...तो लोहता एसओ पर क्यों ना हो मुकदमा?

बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के दर्जनों लोगों ने एसओ को माला पहनाकर लगाए नारे

वाराणसी(रणभेरी): कानून और संविधान में सबसे लिए समान प्रावधान है वह चाहें आम हो या खास अगर उसने कानून का उल्लंघन किया है तो उसपर नियमानुसार कार्रवाई न्यायोचित है। मामला लोहता थाना क्षेत्र का है जहां आम नागरिकों को तो छोड़िए जिनके ऊपर कानून रक्षा की जिम्मेदारी है उन थानाध्यक्ष के सामने बफरजोन में खुलेआम नियम-कानून की धज्जियां उड़ी, धारा-144 का उल्लंघन हुआ। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर क्यों न लोहता थानाध्यक्ष पर मुकदमा दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाए हालांकि एसएसपी ने मामले के जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

अधिकारियों के बीच में अपनी झूठी लोकप्रियता बनाने के चक्कर में एसओ लोहता राकेश सिंह ने लॉकडाउन नियमों को तार तार कर दिया। एसओ की झूठी कार्यशैली से समूचे महकमे को शर्मसार किया है। हर लोग थानेदार के इस घिनौने कृत्य की जमकर निंदा कर कार्रवाई की मांग करते दिखे। अपराध और वारदातों को रोकने में फेल हो चुके एसओ के  पास इस सब करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प भी नहीं बचा हैं। सोशल मीडिया पर रविवार देर रात एक वीडियो वायरल हुआ। इस वीडियो में एसओ लोहता का सैकड़ों की तादात में हरपालपुर गांव के निवासी फूल माला पहनाकर उनका स्वागत करते दिखे। बीच में माला पहने एसओ चल रहे थे उनके आस-पास लोहता एसओ जिंदाबाद के नारे लगाते दर्जनों ग्रामीण झुंड में चल रहे थे। 

सोशल डिस्टेंसिंग तो छोड़िए कई लोगों ने तो मास्क भी नहीं लगाया था। जहां एक तरफ कोरोना के प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन ने लोहता इलाके को बफरजोन घोषित कर लॉक डाउन में सोशल डिस्टेंस का पालन कराने का निर्देश दें रखा है। बावजूद इसके अपनी झूठी साख अधिकारियों के बीच में दिखाने के लिए एसओ लोहता सुनियोजित तरीके से कुछ लोगों से अपना स्वागत कराया। वहीं लोहता थाने पर  तैनात पुलिस सूत्रों की मानें तो एसओ लोहता अपने को सत्ता पक्ष के एक मंत्री और विधायक का करीबी बताकर अवैध काम करने में लगे रहते हैं। इनका अधिकारियों से शिकायत  करने पर अधिकारी थानेदार के खिलाफ कार्रवाई करने के तैयार नहीं होते।

अपना दल ने की मुकदमें की मांग:

लोहता में कोरोना संक्रमण महामारी के दौरान अतिसंवेदनशील ‘बफर जोन’ क्षेत्र के अंदर व समीप तीन अलग-अलग जगहों पर रहीमपुर मोड़, लोहता त्रिमुहानी व हरपालपुर बाजार में लोहता थानाध्यक्ष द्वारा लॉकडाउन की धज्जियाँ उड़ाते हुए भीड़ जुटाने के मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व अन्य उच्चाधिकारियों से मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई है। अपना दल ने थानाध्यक्ष द्वारा अपने खुद के सम्मान समारोह व जूलुस के नाम पर भीड़ इकट्ठा करने के मामले में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। अपना दल युवा मंच के प्रदेश अध्यक्ष गगन प्रकाश यादव ने कहा कि लॉक डाउन का पालन लोहता थानाध्यक्ष पूर्णतया चट्टी चौराहों पर नहीं करा पा रहे है। जिससे आये दिन क्षेत्र में पहले ही जगह जगह जमावड़ा हो रहा था, अब तो अति ही हो गई कि थानाध्यक्ष अपने खुद के सम्मान समारोह व जुलूस के लिए लोगों से भीड़ जुटवाने में लग गए। 

वैश्विक महामारी के संकट की इस  घड़ी में थानाध्यक्ष द्वारा खुद लोगों को फूल-माला और गुलाब की पंखुड़िया उपलब्ध कराकर अपने ऊपर बरसाकर स्वागत कराया जा रहा है। ये घटनाएं विधिविरुद्ध व घोर अनुशासनहीनता तो है ही, इस आफत में ऐसी हरकत मनोरोग जैसी प्रतीत हो रही हैं। उन्होंने उच्चाधिकारियों से उक्त प्रकरण में कड़ी कार्रवाई करने तथा अतिसंवेदनशील बफर जोन की निगरानी अनुभवी पुलिस अधिकारियों से कराने की मांग की।