वाराणसी: सीएए किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि देने के लिए है: महेशचंद्र श्रीवास्तव

वाराणसी: सीएए किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि देने के लिए है: महेशचंद्र श्रीवास्तव

वाराणसी(रणभेरी): जगतगंज स्थित हनुमान मंदिर के समीप नागरिकता संशोधन अधिनियम के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से 'सृष्टी फाउंडेशन' के तत्वावधान में जन संवाद का कार्यक्रम आयोजित किया गया। संस्था के अध्यक्ष विशाल श्रीवास्तव के संयोजन में बतौर मुख्य अतिथि काशी क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव ने सम्बोधित करते हुए कहा कि यह अधिनियम भारत देश के 130 करोड़ लोगों पर प्रभावी है, इसलिये मुस्लिम समाज को इससे डरने की कत्तई आवश्यकता नही है,यह किसी की नागरिकता लेने का नही बल्कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान में धार्मिक भेद भाव के शिकार, शोषित, उत्पीड़ित अल्पसंख्यक समाज के वो लोग जो 31 दिसम्बर 2014 तक भारत देश मे आकर शरण लिए हुए है, उनको नागरिकता देने के लिए लागू किया गया। 

जनसंवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ताज मोहम्मद एडवोकेट ने कहा कि तुस्टीकरण की सियासत करने वाले विपक्षी दल के लोगो द्वारा CAA व NRC को एक ही नज़रिए से दिखाने की कोशिश की जा रही है जबकि दोनों को अलग अलग रूप में समझने व जानने की जरूरत है। इसमें मात्र CAA को ही लागू किया गया है। विपक्षी दलो द्वारा दोनों को जोड़कर भ्रामक प्रचारों के माध्यम विशेष तौर पर मुस्लिम समाज को डराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग भी अपने इस कुकृत्य से भारत की एकता व सौहार्द्र को तोड़ने की कोशिश में लगे हैं, अब समय आ गया है कि मुस्लिम समुदाय धैर्य व एकजूट होकर इस अधिनियम को समर्थन देकर उनके नापाक मंसूबे को तोड़ने को काम करे। 

कार्यक्रम संयोजक विशाल श्रीवास्तव ने आगन्तुक प्रबुद्धजन का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को संचालन मंजरी तिवारी ने किया। कार्यक्रम में शैलेन्द्र श्रीवास्तव, शकील अहमद, भानु प्रताप सोनू, सैदर अली, सिद्धनाथ शर्मा, इमरान अंसारी, अनिल श्रीवास्तव, सुल्तान खान, गुंजन गुप्ता, आमिर सोहैल अंसारी, अखिलेश सिंह, सुल्तान खान समेत दर्जनों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।