उत्तर प्रदेश: पंचायत चुनाव से पहले  42 जिलों की पंचायतों का होगा पुनर्गठन 

उत्तर प्रदेश: पंचायत चुनाव से पहले  42 जिलों की पंचायतों का होगा पुनर्गठन 

उत्तर प्रदेश (रणभेरी): प्रदेश की योगी सरकार ने आगामी पंचायती चुनाव के मद्देनज़र यूपी के 42 जिलों की पंचायतों का पुनर्गठन करने की मंजूरी दे दी हैं। इन पंचायतों की सीमा शहरी विस्तार की वजह से शहर की सीमा में शामिल हो गई हैं।

इसके तहत 42 जिलों की पूरी तरह से शहरी सीमा में शामिल हुई पंचायतों से पंचायती राज विभाग का नाता खत्म हो गया है। अब आंशिक रूप से शहरी सीमा में जा चुके पंचायतों का पुनर्गठन दोबारा होगा, वहीं शहरी सीमा में पूर्ण रूप से सम्मिलित हो चुके पंचायतों के विकास की जिम्मेदारी भी अब नगर विकास विभाग को उठानी होगी।  

उपनिदेशक आरएस चौधरी ने कहा कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक समिति का गठन करके पुनर्गठन का कार्य किया जाएगा। जिसमें सीडीओ और अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सचिव होंगे जबकि डीपीआरओ को सदस्य सचिव नामित किया गया है। शहरी सीमा के विस्तार कार्य के उपरांत लगभग  665 ग्राम पंचायतें तो पूरी तरह से शहरी सीमा में शामिल हो चुके हैं।

वहीं दूसरी ओर 170 ग्राम पंचायतें ऐसे हैं जिनका सिर्फ थोड़ा हिस्सा नगर निगम, नगर पंचायत और नगर पालिका परिषद में मिल गया है। जिसकी वजह से ग्राम पंचायतों का विकास रूक गया हैं।
मुख्यतः पुनर्गठन प्रक्रिया के तहत आंशिक रूप से बचे जिन गांवों की जनसंख्या 1 हजार से कम होगी। उन गांवों को पास की ग्राम पंचायत में शामिल कर दिया जाएगा। अगर गांवों की जनसंख्या एक हजार से अधिक होती है तो उसे पहले जैसा ही छोड़ दिया जायेगा।