बनारस के 1st कोरोना मरीज़ की घर में घुसकर पिटाई, अब सोशल मीडि‍या पर मांग रहा न्‍याय!

बनारस के 1st कोरोना मरीज़ की घर में घुसकर पिटाई, अब सोशल मीडि‍या पर मांग रहा न्‍याय!

वाराणसी(रणभेरी): जनपद के फूलपुर थानाक्षेत्र के चितौरा ग्राम में वाराणसी ही नहीं पूर्वांचल का पहला कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ मिला था। उक्त मरीज़ राजकुमार भरद्वाज दुबई से वाराणसी आया था और कोरोना संक्रमि‍त पाया गया था। कोरोना से जंग जीत चुके इस मरीज़ का आरोप है कि बीते 19 जून को इसके पड़ोसियों ने घर में घुसकर इसकी, इसके पिता और भाई की निर्मम तरीके से पिटाई कर दी। इसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार तो किया पर दो दिन बाद उसे भी रिहा कर दिया गया। अब राजकुमार भारद्वाज ने न्‍याय की आस में वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर आला अधिकारियों से मदद की गुहार लगायी है, फिलहाल ये वीडियो बहुत तेज़ी से वायरल हो रहा है।

राजकुमार भारद्वाज ने अपने पोस्ट में लिखा है, 'मेरा नाम राजकुमार भारद्वाज है मैं ग्राम चितौरा थाना फूलपुर का रहने वाला हूं। मै वाराणसी का पहला कोरोना मरीज था।अभी-अभी कोरॉना से उबरा भी नहीं था कि गत 19 जून 2020 को अपने चारदीवारी के अंदर मै और मेरा भाई पेड़ लगा रहे थे। पडोसी अरविंद कुमार और उसके मनबढ़ भतीजे दिलीप विपिन पवन व पुत्र अनूप अचानक हम पर और मेरे भाई सुनील कुमार तथा पिता जी रामप्रसाद पर अचानक से लाठी- डंडो से प्रहार कर दिए और हम लोग निहत्थे थे और हम लोगों को निर्ममता से पीटकर अधमरा कर दिए। इसमें मेरा हाथ पैर टूटा गया, सिर में गहरी चोट आयी हैं। पिता जी और मेरे भाई का भी हाथ पैर टूटा गया है तथा सिर में गहरी चोट आई है। थाना फूलपुर में F.I.R. किया उसके बाद अरविंद की गिरफ्तारी हुए लेकिन अन्य लोगों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई। अरविंद को भी दो दिनों के बाद रिहा कर दिया गया । मेरा आप सभी से अनुरोध है कि इसे इतना शेयर करे कि यह विडियो कानूनी अधिकारियों (SP, SSP, CO, DM) तक पहुंचे तथा हमें जल्दी- जल्दी न्याय मिल सके। 

बता दें की 21 मार्च को पूर्वांचल में पहला कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ मिला था, जो राजकुमार भरद्वाज था। राजकुमार सऊदी अरब में दुबई और अबुधाबी के बीच संचालित एक क्रूज में रसोइया है। छह मार्च को वह घर से दुबई गया था। दुबई में कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए वह 16 मार्च को अबुधाबी एयरपोर्ट से वाराणसी रवाना हुआ था। 17 मार्च को दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचा। वहां से 18 मार्च को ट्रेन से घर आया था। खांसी और जुकाम से पीड़ित युवक 19 मार्च को पांडेयपुर स्थित दीनदयाल उपाध्याय जिला अस्पताल में दिखाने के लिए पहुंचा था। उसी दिन डॉक्टरों ने उसका सैम्पल लेकर जांच के लिए बीएचयू स्थित प्रयोगशाला में भेज दिया था। युवक को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था, जहां 14 दि‍न रहने के बाद ठीक होने पर उसे डि‍स्‍चार्ज कर दि‍या गया था।