बनारस में सामान्य दिनों की चहक, संक्रमण में रफ़्तार की भनक

बनारस में सामान्य दिनों की चहक, संक्रमण में रफ़्तार की भनक

वाराणसी (रणभेरी): ईद के मौके पर शासन द्वारा नई गाइडलाइन जारी होने के बाद शुक्रवार को जनपद में कर्फ्यू का असर फीका पड़ता नज़ार आया। बाज़ारों  में फैले सन्नाटे में फिर एक बार रौनक आ गयी है। सडकों पर वाहनों की अनुमति तो पहले भी थी पर शुक्रवार को वाहनों की संख्या दोगुनी हो गयी। लिहाजा पेट्रोल पम्प पर भी सामान्य दिनों की तरह भीड़-भाड़ व सोशल डिस्टन्सिंग की धज्जियां उड़ती दिखाई दी। वहीं दुकानों पर भी खरीदार एहतियातों को दरकिनार कर खरीदारी करते नज़र आये।

कई जगह बिना वजह भी कुछ युवा सड़कों  पर टहलते और गप्पे लड़ाते भी दिखे। यही नहीं बल्कि सिगरा स्थित सब्ज़ी मंडी में भी लोगो के  बिना वजह घूमने और गाइडलाइन का उलंघन करने की चलते प्रशासन ने सख्ती करते हुए कई दुकानदारों व खरीदारों का चालान किया। यह नज़ारा देखकर मानो कोरोना का खतरा खत्म सा हो गया हो। ज्यादातर लोग बेफिक्र हो कर घरों से बाहर निकलने लगे हैं जैसे उन्होंने कोरोना नहीं बल्कि प्रशासन के खौफ से ही बस घरो में सरण ली हुई थी। ऐसे हालत में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में फिर तेज़ी से इजाफा होने के सम्भावना है।  

बता दें कि नई गाइडलाइन जिला अधिकारी कौशल राज शर्मा ने 10 मई तक जारी कोरोना कर्फ्यू के मद्देनज़र नई गाइडलाइन जारी कर दी है हालांकि इस गाइडलाइन से वीकेंड लॉकडाउन पर कोई प्रभाव नहीं होगा। नई गाइडलाइन के अनुसार जनपद में समस्त प्रकार की दुकान, शापिंग काम्प्लेक्स, माल, व्यापारिक प्रतिष्ठान, बार, आबकारी दुकानें, धार्मिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगी लेकिन इस दौरान दूध, सब्जी, ब्रेड, फल, बेकरी के सभी उत्पादों के आउटलेट, भोजन सामग्री की दुकानें, अनाज गल्ले की रिटेल दुकानें, सब्जी मण्डी / फल मण्डी आदि दुकानों के खोलने की सिमा 12.00 बजे से बढ़ा कर 01.00 बजे तक कर दिया गया है। यह दुकाने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन तथा सेनेटाइजर एवं मास्क के प्रयोग की अनिवार्यता के साथ खोली जा सकती हैं। इनके अल्वा बाकि प्रतिबंध पहले की ही भांति लागु रहेंगे।