MGKVP: परीक्षा में प्रश्न पत्र प्रारूप को लेकर छात्रों ने खोला मोर्चा

MGKVP: परीक्षा में प्रश्न पत्र प्रारूप को लेकर छात्रों ने खोला मोर्चा
MGKVP: परीक्षा में प्रश्न पत्र प्रारूप को लेकर छात्रों ने खोला मोर्चा
MGKVP: परीक्षा में प्रश्न पत्र प्रारूप को लेकर छात्रों ने खोला मोर्चा
MGKVP: परीक्षा में प्रश्न पत्र प्रारूप को लेकर छात्रों ने खोला मोर्चा

वाराणसी(रणभेरी) महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के स्नातक (यूजी) द्वितीय व तृतीय खंड तथा स्नातकोत्तर (पीजी) प्रथम व अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं 15 जुलाई से तीन पालियों में शुरू होगयी। कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार परीक्षा व प्रश्नपत्रों के स्वरूप में भी परिवर्तन किया गया है। इसके तहत इस वर्ष हर विषय की एक ही पेपर की परीक्षाएं हाेंगी ताकि परीक्षाएं 15 दिनों के भीतर पूरी करा ली जाये। इसीक्रम में परीक्षाएं तीन घंटे के स्थान पर डेढ़ घंटे की कर दी गयी। परीक्षा में अधिकतम 150 शब्दाें के लघुउत्तरीय 5x8=40 अंक व अधिकतम 350 शब्दों के दीर्घ उत्तरीय प्रश्न 2x30=60 अंक के पूछे जा रहे हैं। 

मंगलवार प्रथम दिन परीक्षा देने पहुंचे विभिन्न छात्रों का आरोप था कि परीक्षा में बनाये गए पेपर का प्रारूप सही नही, जिससे उन्हें कम समय मे पेपर हल करने में व्यवधान उत्पन्न हो रहा हैं। इस शिकायत को लेकर सभी छात्र-छात्राएं कुलसचिव से मिलने पहुँचे इस आशा से की वह समस्या सुनकर उसका निराकरण करेंगी परंतु नवनियुक्त कुलसचिव अपने ऑफिस में समय पर नही मिली। 

ग़ौरतलब हो कि इसी के उपरांत सभी छात्र-छात्राएं भारी भीड़ में नवंगत कुलपति से गुहार लगाने पहुँचे। सभी छात्रों को सभागार में एकत्रित कर चीफ प्रॉक्टर, कुलपति, कुलसचिव ने बारी-बारी छात्रों की समस्या सुनी जिसके बाद काफी देर चली वार्ता के उपरांत कुलपति द्वारा सभी छात्रों को न्यायसंगत तौर से उत्तर पुस्तिकाओं के चेकिंग के दौरान ढील दिए जाने की बात कही।

सभागार में उपस्थित छात्रों में शशि शेखर, प्रशांत दीक्षित, शशिधर जायसवाल, वैभव पांडेय, प्रखर दुबे, आदित्य उपाध्याय, रितेश वर्मा, समीक्षा त्रिपाठी, श्रुति, मनीष, अविनाश, आकाश, ट्विंकल, वैष्णवी, आकांक्षा, शालू, अभिषेक, आलोक, सौरभ, सत्यम, सार्थक श्रीवास्तव, आयुष कुशवाहा, आदर्श, आशुतोष, अरिहंत, अमन, शिव समेत ढ़ेरो छात्र मौजूद थे।