वाराणसी: सीएए का विरोध कर रहे पीड़ित बच्चे यूनिवर्सिटी के छात्र हैं न कि दंगाई: प्रियंका गांधी

वाराणसी: सीएए का विरोध कर रहे पीड़ित बच्चे यूनिवर्सिटी के छात्र हैं न कि दंगाई: प्रियंका गांधी

वाराणसी(रणभेरी): कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को वाराणसी पहुंचीं। प्रियंका ने कहा कि सरकार ने जो किया है, वह संविधान को तोड़ने वाला, देश को तोड़ने वाला है। बच्चे उसके खिलाफ खड़े हैं। मैं उनकी आभारी हूं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने सीएए का विरोध कर रहे छात्रों से दुर्व्यवहार किया है। मासूम बच्चों पर गलत धाराएं लगाईं। पीड़ित बच्चे यूनिवर्सिटी के छात्र हैं न कि दंगाई। छात्र शांतिपूर्वक तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। मुझे इन पर गर्व है।

'छात्रों ने संघर्ष किया है और करते रहेंगे'

प्रियंका ने कहा, 'पुलिस ने मासूम बच्चों को 15 दिन तक जेल में रखा। मैं चंपक के पिता रवि और मां एकता से भी मिली। डीएम और पुलिस अधिकारियों का कैसा बर्ताव रहा, यह भी बताया। वे कौन सा नारा उस समय उपयोग कर रहे थे। यह भी सुनाया। छात्रों ने संघर्ष किया है और करते रहेंगे। वे देश की आवाज उठा रहे हैं।