वाराणसी: छात्रों ने दी सरकार को चेतावनी, कहा- हक में फैसला नही हुआ तो करेंगे आंदोलन

वाराणसी: छात्रों ने दी सरकार को चेतावनी, कहा- हक में फैसला नही हुआ तो करेंगे आंदोलन

समाजवादी छात्रसभा ने सरकार के खिलाफ भरी हुंकार

वाराणसी(रणभेरी): यूजीसी के फैसले जिसके तहत अंतिम सेमेस्टर के सभी छात्रों को परीक्षा देना अनिवार्य होगा के विरोध में स्वर उठने शुरू हो गए हैं। जिले में समाजवादी नेता रचित गुप्ता ने गुरुवार को अपनी आवाज बुलंद की और विरोध जताते हुए यह कहा कि कोरोना महामारी के बीच किसी भी वर्ष के छात्रों की परीक्षा कराना उचित नहीं है, सभी छात्रों को प्रमोट करना ही सही निर्णय होगा। 

उन्होंने कहा कि सरकार छात्रों को मास्क या पीपीई किट ना समझे जिसका उपयोग किया और फेंक दिया। सभी छात्रों का जीवन अमूल्य है चाहे वह प्रथम वर्ष में हो या अंतिम वर्ष में। अगर सरकार परीक्षा कराना ही चाहती है तो छात्रों के सामने चुनने का मौका दिया जाए कि वह प्रमोट होना चाहते हैं या हालात सही हो जाने के बाद परीक्षा देना चाहते हैं। अपना निर्णय छात्रों पर थोपने का अधिकार सरकार को नहीं है। अंत में उन्होंने यह भी कहा की अगर सरकार नहीं मानती है तो छात्रों के हित में सभी छात्र संगठन मिलकर सरकार के विरुद्ध आंदोलन करेंगे।