वाराणसी: नो इन्ट्री में ट्रकों से कर रहे थे वसूली, हो गए सस्पेंड

वाराणसी: नो इन्ट्री में ट्रकों से कर रहे थे वसूली, हो गए सस्पेंड

अवैध वसूली और तथ्यों को छुपाने के आरोप में आरक्षी धर्मेन्द्र गिरी एवं अंकित कुमार राय पर हुई कार्रवाई

वाराणसी (रणभेरी): थाना मण्डुवाडीह क्षेत्र में पिकेट ड्यूटी के दौरान नो इन्ट्री में ट्रकों से अवैध वसूली करने, प्राइवेट व्यक्ति से वसूली कराने, उससे वार्ता करने एवं तथ्यों को छिपाने के आरोप में दोषी पाये जाने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा शुक्रवार की रात जांच के बाद बड़ी कार्रवाई की है। ट्रकों से अवैध वसूली मामले में एसएसपी ने मंडुआडीह थाने और रोहनिया थाने के मिलकर 11 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की है। इस कार्रवाई से जनपद के पुलिसकर्मियों में हड़कंप मचा हुआ है। 

यह भी पढ़ें: पाप की कमाई का काला सूत्रधार, परिवहन विभाग को बनाया कारोबार!

बीती 6 अगस्त 2020 को थाना मण्डुवाडीह क्षेत्र में पिकेट ड्यूटी के दौरान नो इन्ट्री में ट्रकों से अवैध वसूली करने, प्राइवेट व्यक्ति से वसूली कराने, उससे वार्ता करने एवं तथ्यों को छिपाने के आरोप में दोषी पाये जाने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी द्वारा थाना मण्डुवाडीह में नियुक्त मुख्य आरक्षी धर्मेन्द्र गिरी व आरक्षी अंकित कुमार राय को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। वहीं उक्त प्रकरण में पूर्व से निलम्बित मुख्य आरक्षी तेजबहादुर यादव, आरक्षी बलवन्त कुमार तथा आज निलम्बित किये गये मुख्य आरक्षी धर्मेन्द्र गिरी व आरक्षी अंकित कुमार राय को प्रारम्भिक जॉच में दोषी पाये जाने पर इनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही भी प्रचलित की गयी।

यह भी पढ़ें: भ्रष्टाचार की हद या सत्ता का मद, भाजपा नेताओं द्वारा बांटे जा रहे पद

ट्रकों से अवैध वसूली में संलिप्त प्राइवेट व्यक्ति आरोपी प्रभाकर राय द्वारा वसूली में संलिप्त अन्य पुलिस कर्मियों के बताये गये नामों के आधार पर जॉच में दोषी पाये जाने पर थाना मण्डुवाडीह में नियुक्त आरक्षी महेन्द्र सिंह, आरक्षी अनूप कुमार सिंह, आरक्षी नीरज राय व थाना रोहनियां में नियुक्त आरक्षी जितेन्द्र सिंह को लाईन हाजिर किया गया।

उक्त आरक्षीगण के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही भी प्रचलित की गयी। सजगता/सतर्कता के अभाव का दोषी पाये जाने पर प्रभारी निरीक्षक मण्डुवाडीह महेन्द्र राम प्रजापति व चौकी प्रभारी लहरतारा उ0नि0 अजय कुमार यादव के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही प्रचलित की गयी तथा उ0नि0 अजय कुमार यादव को लाईन हाजिर किया गया।