वाराणसी: हुकुलगंज सराफा व्यवसायी के हत्यारों ने किया सेरेंडर, थी मामा-भांजे की जोड़ी

वाराणसी: हुकुलगंज सराफा व्यवसायी के हत्यारों ने किया सेरेंडर, थी मामा-भांजे की जोड़ी

जौनपुर के केराकत कोतवाली में जमा किए लूटे गए जेवरात 
बदमाशों की बरामदगी के लिए वाराणसी पुलिस जौनुपर रवाना

वाराणसी(रणभेरी): हुकुलगंज में बीते मंगलवार की रात सराफा व्यवसायी की हत्या कर लाखों रुपये मूल्य के आभूषण लूटने के दो आरोपितों ने शुक्रवार को खुद को पुलिस के हवाले कर दिया। दोनों आरोपितों को उनके स्वजन लूटे गए आभूषणों के साथ जौनपुर के केराकत कोतवाली ले जाकर पुलिस को सौंप दिया। दोनों ने अपराध कुबूल कर लिया है वहीं पुलिस उनसे हत्या को लेकर पूछताछ कर रही है।  

पूर्व परिचित थे राजेश और संदीप

थानागद्दी निवासी सतीश चंद्र सेठ (52) की हुकुलगंज में ‘आरती ज्वेलर्स’ नाम से सराफा की दुकान थी। दुकान के पिछले हिस्से में ही उनका निजी मकान भी था। मंगलवार की रात वह दुकान बंद कर गली के रास्ते घर में जा रहे थे। उसी समय केराकत निवासी राजेश सेठ अपने भांजे संदीप कुमार निवासी प्रयागराज और दो अन्य साथियों के साथ सतीश चंद्र के पास पहुंचा। पूर्व परिचित होने के नाते सतीश सभी को घर में ले गया। सभी ने मिलकर दुकान के पिछले कमरे में सतीश चंद्र की गला रेतकर हत्या कर दी और लाखों रुपये मूल्य के आभूषण लूट कर फरार हो गए। 

परिजनों ने पुलिस को सौंपा

हत्या और लूट में अपने हिस्से आए आभूषणों को बोरी में लेकर राजेश भांजे संदीप के साथ घर पहुंचा। इतने अधिक आभूषण देखकर स्वजनों का माथा ठनक उठा। वे पूछताछ करने लगे तो दोनों ने पूरी बात बता दी। इससे परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्होंने दोनों को लूट के आभूषणों संग ले जाकर केराकत कोतवाली में पुलिस को सौंप दिया। कोतवाल बिंद कुमार दोनों आरोपितों से गहन पूछताछ कर रहे हैं। आरोपितों से पूछताछ के लिए वाराणसी से भी पुलिस टीम रवाना हो गई है।