वाराणसी: युवा रचनाकारों का डॉ. राजीव श्रीवास्तव ने किया उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन

वाराणसी: युवा रचनाकारों का डॉ. राजीव श्रीवास्तव ने किया उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन

वाराणसी(रणभेरी): 'बे-लिहाज़ी अंदाज़' एक ऐसा मंच है जो नये-नये युवा रचनाकारों को एक मंच देता है। इस मंच से अनेको प्रसिद्ध रचनाकारों द्वारा तमाम नव रचनाकारों का समय-समय पर उत्साह वर्धन किया जाता रहा है।

इसी क्रम में 4 जून शनिवार  शाम 7:00 बजे फेसबुक -लाइव पर 'भारत के प्रथम' वैश्विक गायक 'मुकेश' के जीवनी लेखक डॉ. राजीव श्रीवास्तव (लेखक, कवि-गीतकार, फ़िल्म निर्माता-निर्देशक) लाइव आकर 'नव युवा रचनाकारों' का उत्साहवर्धन एवं उनका मार्गदर्शन किया। बहुमुखी प्रतिभा के धनी डॉ. राजीव  श्रीवास्तव कई फ़िल्मी सितारों लता मंगेशकर, महेंद्र कपूर एवं वसीम बरेलवी, मजरूह सुल्तानपुरी जैसे तमाम  महान कवियों का इंटरव्यू भी ले चुके हैं और आर्टिकल भी लिख चुके हैं। 'इनको लाइव सुनना कई किताबें पढ़ने जैसा रहा।' इनकी कविताएं इतनी कोमल होती हैं जैसे मखमली बिस्तर पर चैन-ओ-सुकूँ की नींद हो। 'An Open National Guiding Webinar' फेसबुक - लाइव ईवेंट में अपनी कविताओं के माध्यम से तमाम युवा रचनाकार से ख़ास परिचर्चा के साथ नव युवा रचनाकारों का मार्गदर्शन किया।

'बे-लिहाज़ी अंदाज़' मंच के संस्थापक 'इंशपा इलाहाबादी' का कहना है कि हम आगे भी देश कई वरिष्ठ रचनाकारों को आमंत्रित करेंगे, जिससे सभी नव युवा रचनाकारों को रचनात्मकता से जुड़ी विशेष जानकारी एवं उनका उत्तम मार्गदर्शन हो सके, हमारा उद्देश्य है कि नवकारों को बेहतर मंच प्रदान किया जाये।