पी चिदंबरम ने कहा- अपने काम से मतलब रखें आर्मी चीफ, हमें न बताएं 'क्या करना चाहिए'

पी चिदंबरम ने कहा- अपने काम से मतलब रखें आर्मी चीफ,  हमें न बताएं 'क्या करना चाहिए'

नई दिल्ली: सीएए और एनआरसी के खिलाफ देश में मचे बवाल पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान पर अब नया विवाद शुरू हो गया है। सेना प्रमुख के बयान को कांग्रेस नेताओं सहित कई विपक्षी पार्टियों ने राजनीतिक बताया और उन्हें देश के मामले में दखल न देने की हिदायत भी दी। रावत के बयान पर अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने उनपर हमला बोला और बीजेपी को आड़े हाथ लिया है। चिदंबरम ने कहा कि आप सेना के प्रमुख हैं और अपने काम को ध्यान में रखें।

बिपिन रावत को दी नसीहत:
दरअसल, पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने तिरुवनंतपुरम में एक जनसभा को संबोधित किया। चिदंबरम ने कहा कि DGP और आर्मी जनरल को सरकार का समर्थन करने के लिए कहा जा रहा है, यह शर्म की बात है। मैं सेना प्रमुख से अपील करता हूं कि वह अपने काम में ध्यान दें। सेना का यह काम नहीं कि वह राजनेताओं को बताएं कि हमें क्या करना चाहिए।

बिपिन रावत ने दिया था यह बयान:
देश भर की यूनिवर्सिटीज में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मचे बवाल के बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत का एक बड़ा बयान आया था। जनरल रावत ने कहा था कि भीड़ को हिंसा के लिए उकसाना और आगजनी जैसी घटनाओं को अंजाम देने के लिए लोगों को प्रेरित करना किसी भी तरह के बेहतर नेतृत्‍व का उदाहरण नहीं हो सकता है। जनरल रावत की तरफ से यह पहली प्रतिक्रिया थी जो विरोध प्रदर्शनों को लेकर आई।