पहली मौत: कोरोना वायरस से भारत में पहली मौत, स्कूल और सार्वजनिक स्थान बंद

पहली मौत: कोरोना वायरस से भारत में पहली मौत, स्कूल और सार्वजनिक स्थान बंद

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच कर्नाटक में एक 76 वर्षीय बुजुर्ग की इस महामारी से मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुवार देर रात सरकारी अधिकारियों ने बताया कि कर्नाटक के कलबुर्गी जिले में मंगलवार को एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, वह कोरोना वायरस से संक्रमित था। 

उन्होंने बताया कि मृतक पिछले महीने 29 फरवरी को सऊदी अरब की यात्रा से लौटा था, हैदराबाद हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद उसकी स्क्रीनिंग की गई थी लेकिन उस दौरान बुजुर्ग में कोरोना वायरस जैसे लक्षण की पहचान नहीं हो पाई थी, वह संदिग्ध मरीजों में शामिल थे। कलबुर्गी में कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वाले बुजुर्ग की पुष्टि कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने भी की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए बताया कि कलबुर्गी में एक 76 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई है वह कोरोना वायरस से संक्रमित था। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जब बुजुर्ग की मौत हुई तब उसके कोरोना से संक्रमित होने का संदेह था, बाद में जांच के दौरान उसमें कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा बुधवार को महामारी घोषित होने के बाद और भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मालमों को देखते हुए केंद्र सरकार कई बड़े कदम उठा रहा है। कई राज्यों में कोरोना वायरस के चलते स्कूल और सार्वजनिक स्थानों को बंद कर दिया गया है जहां अक्सर भीड़ होती है। 

इसी क्रम में छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड सरकार ने भी अपने राज्यों में महामारी के संभावित विस्तार को रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया है, राज्य में सभी स्कूलों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस ने विश्व के 117 देशों को अपनी चपेट में ले लिया है और अब तक इस महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 4600 के पार चला गया है।