तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद का हुआ कोरोना वायरस टेस्ट, नतीजे आने के बाद होगी कार्रवाई

तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद का हुआ कोरोना वायरस टेस्ट, नतीजे आने के बाद होगी कार्रवाई

नई दिल्ली: तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद कंधालवी ने कोरोना वायरस टेस्ट करवाया है, हालांकि टेस्ट के नतीजे अभी तक नहीं आए हैं। इससे पहले मौलान साद 14 दिन का क्वारंटाइन पूरे कर चुके हैं। यह जानकारी मौलाना साद के वकील फुजेल अय्यूब ने दी है। दिल्ली पुलिस ने दो दिन पहले मौलाना साद को कोरोना वायरस टेस्ट करवाने के लिए कहा था। दिल्ली पुलिस रिपोर्ट आने के बाद मौलाना साद को समन जारी कर सकती है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने निजामुद्दीन मरकज मामले में 31 मार्च को मौलान साद समेत सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

एक न्यूज ने साद के वकील से बात की है। जब उनके वकील से पूछा गया कि मौलाना साद पुलिस के सामने पूछताछ के लिए कब पेश होंगे, तो उन्होंने कहा, साद के बेटे की मौजूदगी में घर की तलाशी ली गई है। मौलाना साद को मिले दो नोटिस का जवाब दे दिया गया है। उन्हें कोरोना वायरस जांच के लिए कहा गया था जो हो गई है। उन्होंने यह भी कहा कि मौलाना साद अधिकारियों के संपर्क में हैं।

दो दिन पहले तबलीगी जमात के नेता मौलाना साद ने उपचार के बाद कोविड-19 के संक्रमण से मुक्त हो चुके लोगों से रक्त प्लाज्मा दान करने की अपील की ताकि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज किया जा सके।  मंगलवार को जारी एक पत्र में कंधालवी ने कहा कि वह और तबलीगी जमात के कुछ अन्य सदस्यों ने खुद को क्वारंटाइन में रखा हुआ है। 

कंधालवी ने कहा कि खुद को पृथकवास में रखे ज्यादातर सदस्यों में कोराना वायरस की जांच में कोई संक्रमण नहीं पाया गया। उन्होंने कहा ‘‘जो संक्रमित पाए गए हैं उनमें से ज्यादातर का इलाज चल रहा है और अब वे स्वस्थ हो चुके हैं। मैं और कुछ अन्य ने खुद को क्वारंटाइन में रखा हुआ है।’’इससे पहले कांधलवी ने सोमवार को अपने अनुयायियों से अपील की थी कि वे रमजान के महीने के दौरान अपने घरों में ही नमाज अदा करें।