'भाई आलू से सोना बना रहा था, बहन ऑटो से बस बनाने लगी', प्रियंका के 'बस ऑफर' पर बने मजेदार मीम्स

'भाई आलू से सोना बना रहा था, बहन ऑटो से बस बनाने लगी', प्रियंका के 'बस ऑफर' पर बने मजेदार मीम्स

लखनऊ: प्रवासी श्रमिकों के लिए एक हजार बसों के संचालन को लेकर कांग्रेस और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के बीच पिछले दिनों से आरोप-प्रत्यारोप चल रहे हैं। दोनों ही पार्टियां एक-दूसरे पर जमकर निसाने साध रहे हैं। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) की उत्तर प्रदेश ईकाई द्वारा ट्विटर पर कांग्रेस पार्टी को लेकर मीम्स शेयर किए गए हैं। हैशटैग कांग्रेस का बस घोटाला के साथ सारे मीम्स शेयर किए गए हैं। एक मीम्स में लिखा है, 'भाई आलू से सोना बना रहा था, बहन ऑटो से बस बनाने लगी'।

Twitter पर छबि देखें

वहीं एक अन्य मीम में लिखा है, ''सीएम योगी कहते हैं- बसों और ड्राइवर्स की डिटेल दो। '' जिसके जवाब में प्रियंका गांधी कहती हैं- ''मैं तो मजाक कर रही थी।'' (ये बीजेपी यूपी के अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किए गए मीम में लिखा है।) बीजेपी द्वारा शेयर किए गए ये मीम्स ट्विटर पर वायरल हो गए हैं।

Twitter पर छबि देखें

एक ट्वीट में बीजेपी ने लिखा है, बस घोटाला करके कांग्रेस ने प्रदेश के मजदूरों की भावनाओं से खिलवाड़ किया है। संकट के इस समय में कांग्रेस की इस हरकत के लिए जनता उसको माफ नहीं करेगी।

Twitter पर छबि देखें एक ट्वीट में बीजेपी ने लिखा है, चोर चोरी से जाए, हेराफेरी से न जाए।

Twitter पर छबि देखें

कांग्रेस का आरोप- श्रमिकों के लिए बसों को लेकर घटिया राजनीति कर रही है योगी सरकार: 

कांग्रेस ने बुधवार (20 मई) को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार श्रमिकों को उनके गंतव्यों तक भेजने के लिए उसकी ओर से मुहैया कराई जा रही बसों को लेकर घटिया राजनीति कर रही है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह भी कहा कि ये बसें बुधवार शाम पांच बजे तक राजस्थान से लगी उत्तर प्रदेश सीमा पर खड़ी रहेंगी और उत्तर प्रदेश सरकार को इन्हें जाने की अनुमति देनी चाहिए।

उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह घटिया राजनीति की चरम सीमा है। अजय सिंह बिष्ट सरकार (योगी आदित्यनाथ सरकार) गोल-गोल घूमा रही है। इस राजनीति का औचित्य क्या है? हम सरकार के इस रुख की कड़ी निंदा करते हैं।’’

कांग्रेस की बसों की सूची में कार, एंबुलेंस और ऑटो रिक्शा के नंबर : उप्र सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार (19 मई) को आरोप लगाया कि कांग्रेस द्वारा प्रवासियों को घर पहुंचाने के लिए सौंपी गई 1000 बसों की सूची में कई दो पहिया और कार जैसे वाहनों के पंजीकरण नंबर हैं और इसे कांग्रेस का 'बस घोटाला' करार दिया। प्रदेश सरकार के दोनों उप मुख्यमंत्रियों और एक कैबिनेट मंत्री ने कांग्रेस के खिलाफ निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी दल को प्रवासी मजदूरों से माफी मांगनी चाहिए।

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने मंगलवार (19 मई) को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस ओछी राजनीति कर रही है और बसों की जो सूची भेजी है उसमें कई काली सूची में है और कई के नंबर बसों के नाम पर पंजीकृत ही नहीं हैं।