Breaking: श्रीसंत को 7 साल के बैन के बाद मिली रणजी टीम में जगह, केरल क्रिकेट असोसिएशन का फैसला

Breaking: श्रीसंत को 7 साल के बैन के बाद मिली रणजी टीम में जगह, केरल क्रिकेट असोसिएशन का फैसला

नई दिल्ली: केरल क्रिकेट असोसिएशन (केसीए) ने सात साल के बैन के बाद विवादित तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को सितंबर में बैन की अवधि खत्म होने के बाद राज्य की रणजी टीम में शामिल करने का फैसला किया है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रणजी टीम में चुने जाने के लिए श्रीसंत ने केरल क्रिकेट असोसिएशन का शुक्रिया अदा किया है। केरल क्रिकेट असोसिएशन ने कहा है कि अगर श्रीसंत अपनी फिटनेस साबित कर पाए तो उन्हें रणजी टीम में जगह दी जाएगी। श्रीसंत का बैन सितंबर में खत्म हो रहा है और केसीए ने घोषणा की है कि तब श्रीसंत टीम में होंगे और उसने इस संबंध में कोट टीनू योहानन से भी बात कर ली है।

श्रीसंत ने कहा, 'मैं वास्तव में मुझे मौका देने के लिए केसीए का ऋणी हूं। मैं अपनी फिटनेस साबित करूंगा और खेल में जोरदार वापस साबित करूंगा। यह सभी विवादों को शांत करने का समय है।' केसीए ने हाल ही में पूर्व तेज गेंदबाज टीनू योहानन को टीम का कोच नियुक्त किया था। केसीए के सचिव श्रीइथ नायर ने कहा कि उनकी वापसी राज्य टीम के लिए बेहद कीमती होगी।

श्रीसंत का आजीवन बैन सितंबर 2020 में हो रहा है खत्म:

मई 2013 में दिल्ली पुलिस ने श्रीसंत और राजस्थान रॉयल्स के उनके दो अन्य साथी खिलाड़ियों अजीत चंडालिया और अंकित चह्वाण को स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में गिरफ्तार किया था। इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन पर आजीवन बैन लगा दिया था। इस बैन के खिलाफ श्रीसंत ने लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। 2015 में दिल्ली की एक विशेष अदालत ने श्रीसंत को सभी आरोपों से बरी कर दिया था।

2018 में केरल हाई कोर्ट ने बीसीसीआई के आजीवन बैन लगाने के फैसले को रद्द कर दिया था। लेकिन 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने उनकी सजा बरकरार रखी लेकिन बीसीसीआई को सजा की अवधि घटाने को कहा। इसके बाद बीसीसीआई ने उनके आजीवन बैन की अवधि घटाकर सात साल कर दी, जो सितंबर 2020 में समाप्त हो रहा है।

श्रीसंत ने भारत के लिए 27 टेस्ट में 87 विकेट और 75 वनडे विकेट लिए हैं। वह 2011 की वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम का भी हिस्सा रहे थे। आईपीएल के एक मैच के बाद उन्हें स्पिनर हरभजन सिंह ने थप्पड़ मार दिया था। ये स्विंग गेंदबाज राजनीति में उतर चुका है और पिछले विधानसभा चुनावों में वह तिरुवनंतपुरम से बीजेपी के उम्मीदवार थे, लेकिन कांग्रेस के वीएस शिवाकुमार से हार गए थे।  

संदीप वारियर की जगह ले सकते हैं श्रीसंत:

अभी ये स्पष्ट नहीं है कि कोरोना की वजह से रणजी सीजन होगा या नहीं लेकिन केसीए बैन खत्म होने के बाद सितंबर के अंत में श्रीसंत को ट्रेनिंग कैंप में बुलाएगा। केरल के प्रमुख तेज गेंदबाज संदीप वारियर के अगले सीजन में तमिलनाडु के लिए खेलने की संभावना है, इससे आगामी सीजन में फिट होने पर केरल के तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई श्रीसंत कर सकते हैं।