सीमा विवाद: चीन विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान, भारत पर लगाया सैनिकों को उकसाने का आरोप

सीमा विवाद: चीन विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान, भारत पर लगाया सैनिकों को उकसाने का आरोप

नई दिल्ली: 'चोरी ऊपर से सीनाजोरी' ये कहावत इन दिनों चीनी सेना पर एकदम सटीक बैठ रही है। पिछले डेढ़ महीने से चीन भारतीय सीमा में अतिक्रमण की फिराक में है। चीन के इस मंसूबे को कई बार भारतीय सैनिकों ने नाकाम कर दिया। इस बीच 15-16 जून की रात गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों में झड़प हुई। ये झड़प तब हुई जब चीनी सेना भारतीय इलाके में टेंट लगा रही थी। इस घटना में बड़ी संख्या में दोनों देशों के सैनिक हताहत हुए। अपनी गलती सुधारने की बजाए अब चीन उल्टा भारत पर ही आरोप लगा रहा है।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने गुरुवार को ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा कि भारत लद्दाख में हालात को बिगाड़ रहा है। भारत चीन की क्षेत्रीय संभ्रुता की रक्षा करने की इच्छाशक्ति को कम न समझे। भारत में फ्रंट लाइन पर तैनात जवानों ने आम सहमति को तोड़ा और वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) को पार किया। इसके बाद जानबूझकर चीनी अधिकारियों को उकसाते हुए हमला किया। जिस वजह से इतने ज्यादा सैनिक हताहत हुए। वहीं दूसरी ओर चीन के बयान से उलट इंटेलिजेंस रिपोर्ट में ये साफ हो चुका है कि चीन भारतीय सेना पर निगरानी करने के लिए विवादित क्षेत्र में पोस्ट तैयार कर रहा था। जिससे रोकने पर ही चीनी सैनिकों ने धोखे से हमला किया।