पीएम मोदी का 'सुपरजेट' एयर इंडिया वन बनकर तैयार, ट्रंप के प्लेन को टक्कर देगा बोइंग-777

पीएम मोदी का 'सुपरजेट' एयर इंडिया वन बनकर तैयार, ट्रंप के प्लेन को टक्कर देगा बोइंग-777

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हवाई सुरक्षा जमीनी सुरक्षा की तरह अभेद्य होने जा रही है। जल्द ही भारत को दो बिलकुल नए बोइंग 777-300 विमान मिलने जा रहा है। इस बोइंग विमानों को इस्तेमाल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी के लिए होगा। राष्ट्रपति और पीएम के लिए सुपरजेट 'एयर इंडिया वन' अमेरिका में बनकर तैयार हो गया है। पहले विमान की डिलीवरी अगस्त में हो सकती है जबकि भारत को दूसरा विमान सितंबर में मिलेगा।

पीएम मोदी के 'एयर इंडिया वन' में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विमान 'एयरफोर्स वन' की तरह सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। इन विमानों की खासियत है कि इन्हें हवा में कोई छू भी नहीं सकता है। भारत ने पिछले दिनों बोइंग-777 के दो विमानों को खरीदा था। इन विमानों में सुरक्षा के लिहाज काफी बदलाव किए गए हैं। भारत ने बोइंग-777 के लिए 1300 करोड़ रुपये में डील की है। इन विमानों में दो सेल्फ प्रोटेक्सन सूट (self-protection suites) लगाए जा रहे हैं।

राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी करेंगे इस्तेमाल:

एयर इंडिया ने वीवीआईपी यात्रा के लिए नए बोइंग 777-300ER विमान की एक जोड़ी उन्नत बनाने के लिए बोइंग कंपनी को भेजा था। इसमें मिसाइल रक्षा प्रणालियों के लिए 190 मिलियन डॉलर खर्च हुए हैं। दोनों जेट 3 साल से कम पुराने थे और इनका इस्तेमाल कम ही किया जाता था। रिटायर्ड एयर मार्शल केके नोहवार ने कहते हैं,  “वीवीआईपी को खतरा हमेशा बना रहता है। देश को अपने शीर्ष नेतृत्व की रक्षा के लिए जो भी उपाय करने की आवश्यकता है, वह किया जाना चाहिए।" फिलहाल अभी राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री यात्राओं के लिए बोइंग-747 का इस्तेमाल करते हैं। ये विमान दो दशक पुराने हैं।

एकीकृत मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम से हैं लैस: 

पीएम नरेंद्र मोदी का नया बोइंग-777 विमान एकीकृत मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम से लैस है। अगर दुश्मन देश विमान पर मिसाइल से हमला करता है तो इसमें लगे खास सेंसर तुरंत हमले की सूचना दे देंगे। इसके बाद डिफेंसिंव इलेक्‍ट्रानिक वॉरफेयर सिस्‍टम ऐक्टिव हो जाएगा। इस विमान के डिफेंस सिस्‍टम में इंफ्रा रेड सिस्‍टम, डिजिटल रेडियो फ्र‍िक्‍वेंसी जैमर आदि लगे हुए हैं।